Wednesday, 15 May 2019

पैशन और पढ़ाई

आजकल मार्केट में एक नई खेप आयी है मोटिवेशनल स्पीकर्स की जो बच्चों को सिखाते हैं कि आप अपने मार्क्स पर ध्यान मत दीजिए... बिना पढ़े भी बहुत कुछ पाया जा सकता है और इन नंबर्स के खेल से कुछ नही होता...अपना पैशन फॉलो कीजिए... और साथ साथ ये उदाहरण भी देते हैं कि देखिए सचिन कम पढ़ा लिखा है...जुकरबर्ग और बिल गेट्स कॉलेज ड्रॉपआउट हैं और भी बहुत सारे...पर भाई साहब ये मंदीप महिष्मति, गुरिंदम जगाधरी और जय डेढ़ा ये सारे ख़ुद भारी भरकम डिग्रियां लेकर बैठे हुए हैं...

उसके बाद उन्हें सपोर्ट करते हुए आती हैं जोया अख़्तर की फिल्में जहाँ उनका नायक काम धंधा छोड़ कर निकल पड़ते हैं वर्ल्ड टूर पर सैर सपाटे के लिए....

मजे की बात ये है कि जोश में आकर बच्चे भी इन सबको सच मानकर निकल पड़ते हैं अपना पैशन फॉलो करने...वो पैशन जो हर फिल्म के बाद या हर साल बदलता रहता है....ऋतिक रोशन को देख कर सोचते हैं हीरो बन जाएं...अरिजीत को देख कर सिंगर बनना है...रेमो डिसूजा कहते हैं डांसर बन जाओ, ज़ाकिर को देख कर स्टैंडअप कॉमेडियन...धोनी के फैंस को क्रिकेटर बनना है...कुमार विश्वास को सुन कर हर कोई कवि बनने निकल पड़ा है...और ये सभी पैशन पूरा करने के लिए टिकटॉक नामक संस्था एक उचित प्लेटफार्म भी मुहैया करा रही है...

सोशल मीडिया देख कर मेरा पर्सनल सर्वे ये कहता है कि...2030 तक हर दूसरा बच्चा सिंगर, हर तीसरा बच्चा डांसर, हर चौथा बच्चा स्टैंडअप कॉमेडियन और हर पाँचवा बच्चा कवि होगा....

पर क्या आपको पता है या आपने कभी सोचा है कि पढ़ाई लिखाई का क्या महत्व है..जिस पढ़ाई को आप अपने पैशन के मार्ग में बाधा समझते हैं वो कितनी महत्वपूर्ण है....जिन बिल गेट्स और जुकरबर्ग के उदाहरण आपको दिए जाते हैं उन्होंने पढ़ाई पे कितना ध्यान दिया था आपको पता है??..उन्होंने भी बेसिक पढ़ाई पूरी की और कॉलेज तक पहुंचे और हाँ उन्होंने हमारी आपकी तरह सिर्फ हिंदी और गणित में ध्यान नही दिया बल्कि सॉफ्टवेयर डेवलपिंग पे ज्यादा दिमाग लगाया...और फिर सफलता पाई....और आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की उनकी ख़ुद की कंपनियां भी IIT और IIM से रिक्रूटमेंट करती है जहाँ पहुँचने के लिए पढ़ाई कितनी जरूरी है वो बताने की जरूरत नही है..

और ऊपर मैंने जिन जिन के नाम लिए हैं ना आपके आइडल के तौर पर उन सभी ने अपनी बेसिक पढ़ाई पूरी की है...

एक बात याद रखिये आप अपना पैशन पढ़ाई के बाद भी और उसके साथ भी पूरा कर सकते हैं और पैशन पूरा करने में असफल रहने पर भी ये पढ़ाई आपको बचा लेगी पर अगर बिना पढ़ाई के आप पैशन पूरा करने जाएंगे और असफल लौटेंगे तो फिर कहीं के नही रहेंगे....

तो आप सब से सिर्फ़ इतना ही कहना है कि आप सब कुछ करें पर अपनी बेसिक एजुकेशन को जरूर पूरा करें और मन से करें...हर कोई टॉप नही आ सकता पर हर किसी के लिए पढ़ना और अच्छे से पढ़ना बहुत जरूरी है..

और हाँ हर कोई स्पेन घूमना चाहता है (जिंदगी ना मिलेगी दोबारा की तरह) मगर उसके लिए पैसे चाहिए होते हैं और उसके लिए सफल होना पड़ता है....

अमित 'मौन'

6 comments:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की दिनांक 16/05/2019 की बुलेटिन, " मुफ़्त का धनिया - काबिल इंसान - ब्लॉग बुलेटिन “ , में आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  2. बहुत बढ़िया लिखा है आपने

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद आपका

      Delete

अस्थायी रिश्ते..

अस्थायी रिश्ते: कुछ रिश्ते गमले में उगी घास की तरह होते हैं... घास जो अचानक ही पेड़ के आस पास उग आती है उसके चारों ओर एक सुंदर हरियाली छटा ...